Headline

आदमखोर बाघ का आतंक! यहां 3 महिलाओं को बना चुका है अपना निवाला

Tiger

भीमताल में आदमखोर बाघ का आतंक!

उत्तराखंड वन विभाग की घोर लापरवाही से समूचे भीमताल क्षेत्र में डर और खौफ का माहौल बना हुआ है। पिछले 12 दिनों से भीमताल क्षेत्र में आदमखोर बाघ का आतंक जारी है जिसमें दो महिलाओं और एक लड़की की हत्या से आदमखोर अब तक तीनों महिलाओं की हत्या कर चुका है।

ये है पूरा मामला (आदमखोर बाघ का आतंक)

पहली घटना – 7 दिसंबर को भीमताल के मलुवाताल ग्राम सभा के कसैल तोक में इंदिरा देवी (उम्र 35 साल) को शाम को 5:30 बजे घर के पास ही निवाला बनाया।

दूसरी घटना – पहली घटना को मात्र दो दिन ही गुजरे थे कि 9 दिसंबर को भीमताल के ही पिनरों ग्राम सभा में 36 वर्षीय पुष्पा देवी को इस आदमखोर ने निवाला बनाया।

तीसरी घटना – तीसरा निवाला इस आदमखोर बाघ ने इसी विधानसभा के अल्चोना निवासी 21 वर्षीय निकिता शर्मा को मंगलवार 19 दिसंबर को शाम को 5:00 घर के पास ही बना लिया था।

तीन-तीन घटनाओं के बावज़ूद वन विभाग के अधिकारी यह तय नहीं कर पाए हैं कि यह हत्याएं बाघ कर रहा है या तेंदुआ ..

रो रो कर बिलख रहे लड़की के पिता ने कहा है कि वह आदमखोर बाघ को खुद मार देंगे बस उन्हें बंदूक दे दी जाए।

आदमखोर बाघ की तीसरी घटना के बाद भयंकर जनाक्रोश
आदमखोर बाघ की तीसरी घटना के बाद भयंकर जनाक्रोश (फोटो में 21 वर्षीय मृतका निकिता)

स्थानीय लोगों का विरोध प्रदर्शन।

वन विभाग की इसी नाकामी के कारण स्थानीय निवासियों में जिला प्रशासन के खिलाफ रोष है. इसी के कारण कल हल्द्वानी – भवाली हाईवे को 5 घंटे तक जाम करके रखा गया, जिसमें निकिता के लिए इंसाफ की मांग की गई और जिला प्रशासन से जल्दी से जल्दी इस आदमखोर को मारने की गुहार लगाई गई. लगभग डेढ़ हजार की भीड़ को काबू करने में शासन प्रशासन के हाथ पांव फूल गए. विधायक राम सिंह कैड़ा ने बताया कि मृतक निकिता के परिवार को ₹300000 की आर्थिक सहायता दी जाएगी और वन विभाग के कर्मचारियों ने कहा कि परिवार के एक व्यक्ति को वन विभाग में संविदा में योग्यता को देखकर रखा जाएगा..

लोगों ने लगाए वन विभाग पर लापरवाही के आरोप

लोगों का आरोप है कि वन विभाग घोर लापरवाही कर रहा है, जिस कारण से बार-बार पहाड़ की मातृ शक्ति को खोना पड़ रहा है अगर वन विभाग जल्दी से जल्दी कोई कदम नहीं उठाता तो स्थानी लोगों ने एक उग्र से उग्र आंदोलन की चेतावनी भी शासन प्रशासन से लेकर मुख्यमंत्री तक भेज दी है ।।

शासन-प्रशासन को इस मामले की गंभीरता को देखते हुए त्वरित कार्रवाई करते हुए उस आदमखोर जानवर को पकड़ने के इंतजाम करने चाहिए अन्यथा बहुत देर हो जाएगी।

यह जानकारी हमें उत्तराखंड के बेबाक व स्वतंत्र पत्रकार डीजे दीपक जोशी जी के सौजन्य से प्राप्त हुई। 

इसे भी पढें 👉

हल्द्वानी में होने वाले इस कार्यक्रम को लेकर पूरे कुमाऊं में उत्साह। 

 

पिता पर आधारित कुमाऊनी गीत आ चुका है सोमेश्वर घाटी यूट्यूब चैनल पर। 

error: Content is protected !!