Headline

जल प्रहरी सम्मान 2023: इन दोनों ने किया उत्तराखंड का नाम रौशन

जल प्रहरी सम्मान

जल प्रहरी सम्मान (भारत सरकार के जल शक्ति मंत्रालय द्वारा आयोजित)

भारत सरकार के जल शक्ति मंत्रालय और सरकारटेल के सहयोग से महाराष्ट्र में आयोजित सम्मेलन में जल संकट और उसके संरक्षण को लेकर गहन चर्चा हुई। इस दौरान बाहर देशो से आए हुए विशेषज्ञों और वैज्ञानिकों की टीम ने जल संकट को एक वैश्विक संकट मानते हुए इसके समाधान के लिये अपने कुछ सुझाव साझा किए तथा ग्लोबल वार्मिंग (जलवायु परिवर्तन) व पेयजल संकट से निपटने के लिए दुनियाभर की नई तकनीकों और भारत के द्वारा इस दिशा में उठाये जा रहे सकारात्मक कदमों पर भी चर्चा हुई। इस दौरान देश भर से आए हुए 52 जल प्रहरियों ( पर्यावरणविदों) को सम्मानित भी किया गया इस सम्मान को नाम दिया गया है “जल प्रहरी सम्मान“, जिसमें उत्तराखंड के दो लोग शामिल थे जिसमें से एक हैं नैनीताल जिले से पर्यावरण प्रेमी चन्दन सिंह नयाल व दूसरे हैं अल्मोड़ा जिले से पर्यावरणविद डाॅ० शिव कुमार उपाध्याय जी

डाॅ० शिव कुमार उपाध्याय

अल्मोडा जलागम विभाग के उप परियोजना निदेशक डाॅ० शिव कुमार उपाध्याय को महाराष्ट्र में भारत सरकार के जल शक्ति मंत्रालय और उनकी सहयोगी संस्थाओं द्वारा आयोजित सम्मेलन में उनके द्वारा पर्यावरण संरक्षण व जल संचय के क्षेत्र में किए गए अनुकरणीय कार्यों के लिए ‘जल प्रहरी सम्मान’ से सम्मानित किया गया। इस सम्मान के लिए हम उन्हें ढेर सारी बधाईयाँ एवं शुभकामनाएं प्रदान करते हैं।।

पर्यावरण प्रेमी चन्दन सिंह नयाल

नैनीताल जिले के ओखलकांडा ब्लाक निवासी चन्दन सिंह नयाल को भी भारत सरकार के जल शक्ति मंत्रालय और उनकी सहयोगी संस्थाओं द्वारा उनके द्वारा बनाए गए 3250 से अधिक चाल-खाल और 53000 से ज्यादा पेड़ लगाकर बंजर भूमि को पुनः हरा-भरा जंगल बनाने के अनुकरणीय कार्यों के लिए जल प्रहरी सम्मान से सम्मानित किया गया।

आपको बता दें कि चंदन सिंह नयाल को ट्रीमैन के नाम से भी जाना जाता है। चन्दन सिंह नयाल पिछले 10 सालों से पर्यावरण संरक्षण के लिए निरंतर काम कर रहे हैं, उनसे प्रेरित होकर प्रदेश के दर्जनों युवा उन्हें अपना रोल मॉडल मानते हुए पर्यावरण के संरक्षण के महत्व को समझ रहे हैं और उसे संरक्षित करने का काम कर रहे हैं।। जल प्रहरी सम्मान के लिए हम चन्दन सिंह नयाल जी को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं देते हैं।

इसे भी पढें

👉 उत्तराखंड में स्वास्थ्य व्यवस्था – एक विस्तृत रिपोर्ट

👉 टीबी सेनेटोरियम भवाली का इतिहास और वर्तमान स्थिति

👉 आनलाइन ठगी का शिकार हो रहे हैं महिलाएं, बच्चियां और बुजुर्ग

आप हमें यूट्यूब पर भी देख सकते हैं –

error: Content is protected !!